Peptech Time

  • Download App from
    Follow us on
  • भगवान के जन्म की बधाई लूटने उमड़ पड़ा वृंदावन

    भगवान के जन्म की बधाई लूटने उमड़ पड़ा वृंदावन

    छतरपुर। संतों की तपस्थली बागेश्वर धाम में चल रहे बुन्देलखंड के महाकुंभ के पावन अवसर पर श्री मद भागवत कथा में चौथे दिन कृष्ण जन्म की कथा श्रवण करने का अवसर मिला। भगवान कृष्ण के जन्म के समय नंद बाबा ने बधाई बांटनी शुरू की तो पूरा वृंदावन उमड़ पड़ा। कथा के पूर्व जाने-माने कथावाचक संजय कृष्ण सलिल, श्री रामस्नेही का भी सारगर्भित उद्बोधन हुआ। संजय कृष्ण सलिल महाराज ने कहा कि यह भूमि त्याग और तप की भूमि है। यहां का नाम सुनते ही यहां आने से पैर रोके नहीं जाते। इस मौके पर जगत संत पूज्य देवरहा बाबा के परिवार से भी सदस्य शामिल हुए।
    कथा व्यास इंद्रेश उपाध्याय महाराज ने कथा क्रम में चौथे दिवस भगवान कृष्ण के जन्म की लीला का सरस व मधुर वाणी से वर्णन किया । उन्होंने कहा कि जब भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ तो तीनो लोकों में मंगलाचार होने लगे। कारागार में जन्म लेने के बाद जब भगवान को गोकुल ले जाया गया तो वहां नंद बाबा ने जन्मोत्सव मनाया और भर भर हाथों बधाईयां बाँटी। कथा के प्रारंभ उन्होंने कहा कि बड़े लोगों का क्रोध वरदान तुल्य होता है। जीवन भर नाम जपने का प्रभाव ऐसा होता है कि अंत समय में जीव का स्मरण स्वयं ठाकुर जी करते हैं। भागवत जी मुक्तिदान से पहले भक्ति दान की गर्जना करती है। मदर सुधारना है तो संगत सुधारना होगी। दूषित व्यक्ति का त्याग करने से ही अनंत कथा का फल मिलता है। जिसके हदय में आध्यात्मिकता नहीं होती उसे मन से अवश्य त्यागना चाहिए। शहीद परिवारों को बागेश्वर धाम लेकर आ रहे सेवादार अशोक तिवारी ने बताया कि सोमवार को पांच शहीद परिवारों के 25 सदस्य यज्ञ शाला में शामिल हुए और हवन किया इसके बाद वे कथा में आरती में भी उपस्थित हुए।
    हम एक धरती, एक परिवार और एक भविष्य के पक्षधर है
    बागेश्वर धाम आये केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने अपने अपने उदबोधन में कहा कि हम एक धरती, एक परिवार और एक भविष्य की धारणा को आगे बढ़ा रहे हैं । भारत ने विश्व को साहित्य, संस्कृति और संस्कार देने का काम दिया है। हिमालय में जागते रहो कहने वालों के कारण ही हम यहां निश्चिंत बैठे हैं। आज के भारत के क्रिया कलापों की अल्पसंख्यक देश भी सराहना कर रहे हैं।

  • जन संपर्क न्यूज़

    जल स्रोतों के संरक्षण एवं पुनर्जीवन के लिये सभी नगरीय निकायों में 5 से 15 जून तक चलेगा विशेष अभियान

    मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की पहल पर प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में जल स्रोतों तथा नदी, तालाबों, कुओं, बावड़ियों…

    मतगणना की व्यवस्थाओं का समुचित प्रबंधन कर लें- मुख्य निर्वाचन आयुक्त श्री कुमार

    मुख्य निर्वाचन आयुक्त, भारत निर्वाचन आयोग श्री राजीव कुमार ने सोमवार 27 मई को लोकसभा निर्वाचन-2024 की मतगणना की तैयारियों…

    Stay Connected

  • Related Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Add New Playlist