Peptech Time

  • Download App from
    Follow us on
  • बिहार में एक बार फिर हो सकता है सत्ता का महापलट, जानिए अब तक क्या हुआ?

    बिहार में एक बार फिर हो सकता है सत्ता का महापलट, जानिए अब तक क्या हुआ?

    पटना, (ईएमएस)। बिहार में एक बार फिर सत्ता का महापलट हो सकता है। एक और जहां सियासी भूचाल मच गया है, वहीं आरजेडी ने नया प्लान भी तैयार कर ‎लिया है। नीतीश के एनडीए में शा‎मिल होने की अटकलों ‎के बाद लालू ने कहा और तेजस्वी यादव ने सरकार बनाने का दावा पेश कर ‎दिया है। इससे इतना तो तय है ‎कि नीतीश और लालू एक दूसरें को पटकनी देने पर तुले हुए हैं।

    बताया जा रहा है ‎कि लालू प्रसाद यादव ने नीतीश को फोन ‎‎किया था ले‎किन उन्होंने लालू का फोन ‎रिसीव नहीं ‎किया। जानकार बता रहे हैं ‎कि ‎बिहार की सियासत में इन ‎दिनों बड़े उलटफेर होने वाले हैं। नीतीश कुमार का महागठबंधन छोड़कर एनडीए में वापसी की खबरें सुर्खियों में है। हलांकि लालू यादव की पार्टी आरजेडी भी सावधानी से अपने पांसे फैंक रही है। बताया जा रहा है ‎कि तमाम सियासी उठापटक के बीच एक बात लगभग तय मानी जा रही है‎ कि नीतीश कुमार का ‎फिर से मुख्यमंत्री बनना लगभग तय माना जा रहा है।

    हलांकि आरजेडी को उस समय एक और झटका लगा जब लालू यादव ने नीतीश कुमार को फोन किया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। इसके बाद लालू यादव ने बड़ा दावा करते हुए कहा है कि बहुमत का आंकड़ा हमारे पास है, ले‎किन नीतीश कुमार के महाठबंधन को तोड़ने के बाद ही हम अपना पत्ता खोलेंगे, लालू ने कहा ‎कि बिहार में सबसे बड़ी पार्टी हम हैं।

    इधर तेजस्वी यादव ने अपने विधायकों के साथ बैठक में कहा कि नीतीश का इस बार का तख्तापलट कर शपथ लेना उतना आसान नही होगा। हालां‎कि कांग्रेस के बिहार अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह ने कल रात जीतन राम मांझी से गोपनीय जगह पर मुलाकात की। उनको इंडिया गठबंधन के साथ आने पर उपमुख्यमंत्री पद और दो मंत्री पद देने का ऑफर दिया गया।

    ‎मिली जानकारी के अनुसार आज दिन में 1 बजे आरजेडी विधायक दल की बैठक होने जा रही हि। ‎जिसमें तेजस्वी यादव अपने दम पर सरकार बनाने का दावा कर सकते हैं। इतना ही नहीं तेजस्वी यादव राजभवन के बाहर अपने विधयको के साथ धरने पर बैठ सकते हैं। बता दें ‎कि बिहार में 478 सर्किल अधिका‎रियों का तबादला हुआ है। लंबे समय से इनके तबादले रुके हुए थे।

    राजनीतिक घटना क्रम के बीच रुके हुई तबादले कर दिए गए। इधर जेडीयू सांसद सुनील पिंटू ने कहा कि नीतीश कुमार जब बीजेपी के साथ गठबंधन में थे तब बिहार में पुल पुलिया बना, बिहार का विकास हुआ, इसलिए हम बार बार कहते रहे हैं कि दोनों लोगो को साथ आ जाना चाहिए।

    बिहार में इंडिया गठबंधन को बड़ा झटका लगा है। सीट बंटवारे की बात के लिए पटना आने वाले कांग्रेस गठबंधन समिति के सदस्य भूपेश बघेल को पटना दौरा टालना पड़ा है। नीतीश की तरफ से कोई जवाब न मिलने की वजह से बघेल को पटना दौरा टालना पड़ा। जेडीयू के तमाम विधायक और विधान पार्षद के साथ साथ लोकसभा और राज्य सभा सांसद पटना पहुचेंगे।

    कल सुबह 10 बजे नीतीश कुमार के सरकारी आवास एक बैठक होगी। वहीं नौकरी के बदले जमीन (लैंड फॉर जॉब) के मामले में मनी लॉन्ड्रिंग के तहत ईडी द्वारा दाखिल चार्जशीट पर संज्ञान लेने को राउज एवेन्यू कोर्ट आज फैसला भी सुनाएगा। जब‎कि राज्य सरकार के तीन वरीय अधिकारी जिसमें नीतीश कुमार के एक सबसे खासहैं, राजभवन पहुंच गए हैं और शपथग्रहण समारोह की तैयारी पर चर्चा कर रहे है।

  • Shri Sai Lotus City, Satna (M.P.)

    Peptech Town, Chhatarpur (M.P.)​

  • Related Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Add New Playlist