Peptech Time

  • Download App from
    Follow us on
  • मौसम: रात में जहां कड़ाके की सर्दी, दिन में भी सिहरन

    मौसम: रात में जहां कड़ाके की सर्दी, दिन में भी सिहरन

    भोपाल (ईएमएस)। मध्‍य प्रदेश में सर्द हवाओं के कारण ठिठुरन बरकरार है। रात में जहां कड़ाके की सर्दी पड़ रही है, वहीं कोहरा, बादल बने रहने के कारण दिन के मौसम में भी सिहरन बनी हुई है। अरब सागर से आ रही नमी और उत्तर भारत की तरफ से लगातार आ रही ठंडी बयारों ने पूरे प्रदेश को अपनी आगोश में ले रखा है।

    शनिवार को प्रदेश में सबसे कम तीन डिग्री सेल्सियस तापमान नौगांव में रिकार्ड किया गया। नौगांव एवं सागर में शीतलहर का प्रभाव रहा। प्रदेश के 17 शहरों में रात का तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से कम रहा। प्रदेश में सबसे कम 50 मीटर दृश्यता रीवा में दर्ज की गई। राजधानी में भी रात के तापमान में गिरावट का सिलसिला बना हुआ है।

    शनिवार को न्यूनतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस वर्ष जनवरी माह का सबसे कम तापमान रहा। उधर, नर्मदापुरम, उमरिया, नरसिंहपुर, मंडला जिले में शनिवार को वर्षा भी हुई। भोपाल में अवधपुरी क्षेत्र में बूंदाबांदी हुई। खजुराहो, नौगांव, सतना, जबलपुर, उमरिया में तीव्र शीतल दिन रहा। ग्वालियर, सागर, रीवा एवं सीधी में शीतल दिन रहा। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अभी दो-तीन दिन तक मौसम का मिजाज इसी तरह बना रह सकता है।

    इस दौरान ठंड के तेवर और तीखे हो सकते हैं। मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी बीएस यादव ने बताया कि उत्तर भारत में सक्रिय जेट स्ट्रीम के असर से पूरे मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। अगले दो दिन में न्यूनतम तापमान में और भी गिरावट होने के आसार हैं, जिसकी वजह से कई शहर शीतलहर की चपेट में आ सकते हैं। इसके अलावा लगभग 12 किलोमीटर की ऊंचाई पर वेस्टर्न जेट स्ट्रीम (पश्चिम से पूर्व की तरफ काफी तेज रफ्तार से बहने वाली हवाओं का समूह) भी मौजूद है।

    जेट स्ट्रीम जहां भी सक्रिय रहता है, वहां के मौसम के मिजाज के लिए उत्प्रेरक का काम करता है। यही वजह है कि प्रदेश के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में लगभग चार दिन से घने कोहरे का असर बरकरार है। पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में हरियाणा में हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। एक चक्रवात उत्तरी-मध्य महाराष्ट्र पर भी बना है। कर्नाटक से लेकर मध्य महाराष्ट्र से होकर विदर्भ तक एक द्रोणिका बनी हुई है। इसकी वजह से अरब सागर से नमी आ रही है। इस वजह से प्रदेश के अधिकतर शहरों में बादल बने हैं और कोहरा भी छा रहा है। साथ ही जबलपुर, नर्मदापुरम, भोपाल संभाग के जिलों में कहीं-कहीं वर्षा हो रही है।

  • जन संपर्क न्यूज़

    गैस राहत चिकित्सालयों में प्रतिनियुक्ति पर ली जायेंगी चिकित्सा अधिकारियों की सेवाएँ

    गैस राहत चिकित्सालयों के लिये विशेषज्ञों, कंसलटेंट और चिकित्सा अधिकारियों की सेवाएँ प्रतिनियुक्ति पर ली जायेंगी। संचालक गैस राहत एवं…

    Stay Connected

  • Related Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Add New Playlist