Peptech Time

  • Download App from
    Follow us on
  • छिपकली और इंसान का अजीब प्रेम

    छिपकली और इंसान का अजीब प्रेम

    ग्वालियर। छिपकली के नाम सुनते ही या अपने आसपास छिपकली को देखकर अक्सर लोगों के शरीर में सिरहन दौड़ जाती है,अधिकांश महिलाओं की तो छिपकली को देखते ही घिग्घी बंध जाती हैं। लेकिन ग्वालियर में एक ऐसा भी इंसान है जो छिपकली से बेहद प्रेम करता है। क हते हैं प्रेम कभी भी अनायास किसी से भी हो सकता है। फिर चाहे वह इंसान हो अथवा जानवर। प्रेम की भाषा समझने वाले फिर इसमें फर्क नहीं कर पाते । कुछ ऐसा ही इन दिनों देखने को मिला है, जयारोग्य चिकित्सालय के बाहर रहने और मजदूरी करने वाले एक युवक दिनेश लोधी और छिपकली की दोस्ती के बारे में। करीब एक महीने पहले रात के वक्त सोते समय एक छिपकली दिनेश लोधी के कपड़ों में आ गई थी। पहले तो उसने चूहा आदि समझ कर अपने कपड़े उतारे। लेकिन जब दिनेश ने देखा तो उसमें छिपकली थी। उसने छिपकली को भगाना चाहा तो वह फिर भी दिनेश के कपड़ों पर ही बैठी रही। अब वह दिनेश के साथ ही पूरे दिन रहती है । इन दिनों ग्वालियर में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है ऐसे में दिनेश जयारोग्य चिकित्सालय के बाहर फुटपाथ पर अपने आशियाने के बाहर अलाव जलाकर गर्माहट लेता है उस समय छिपकली भी उसके कपड़ों पर बैठी रहती है। यदि छिपकली कुछ देर के लिए इधर-उधर हो जाए तो दिनेश बेचैन हो जाता है। दोनों में यह प्रेम संबंध को बने लगभग एक महीने का वक्त बीत चुका है। दिनेश कहते हैं कि अब वह छिपकली को अपने से अलग नहीं कर सकते। क्योंकि इसमें उनकी जान बसती है। सड़क किनारे फुटपाथ पर सोने वाले दिनेश का कहना है कि पहले उन्हें एक सांप ने काट लिया था तो उसने खुद ही ब्लड मारकर सांप का जहर निकाल दिया था। छिपकली भी उसे दो-तीन बार काट चुकी है लेकिन उसका कोई असर नहीं हुआ ।अब वह दिनेश के हाथ पैर टोपी और जैकेट पर 24 घंटे बैठी देखी जा सकती है। इंसान और बेजुबान की यह दोस्ती इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई है।

  • जन संपर्क न्यूज़

    गैस राहत चिकित्सालयों में प्रतिनियुक्ति पर ली जायेंगी चिकित्सा अधिकारियों की सेवाएँ

    गैस राहत चिकित्सालयों के लिये विशेषज्ञों, कंसलटेंट और चिकित्सा अधिकारियों की सेवाएँ प्रतिनियुक्ति पर ली जायेंगी। संचालक गैस राहत एवं…

    Stay Connected

  • Related Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Add New Playlist