Peptech Time

  • Download App from
    Follow us on
  • अगर सचिन तेंदुलकर के साथ यह न हुआ होता तो, अपने वे अपने नाम पर दर्ज करते कई और कीर्तिमान?

    अगर सचिन तेंदुलकर के साथ यह न हुआ होता तो, अपने वे अपने नाम पर दर्ज करते कई और कीर्तिमान?

    स्पोर्ट डेस्क। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर को इंटरनेशनल क्रिकेट में 40 बार गलत आउट दिया गया। इस बल्लेबाज ने कभी उफ तक नहीं की, चुपचाप सिर झुका कर मैदान के बाहर चले गए। इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा 34357 रन बनाने वाला बल्लेबाज। इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा 100 शतक लगाने वाला बल्लेबाज। अगर सचिन अक्सर गलत अंपायरिंग का शिकार नहीं हुए होते, तो अपने नाम कई और कीर्तिमान दर्ज कर सकते थे।

    उनके शतकों की संख्या निश्चित तौर पर 120 से ज्यादा होती। 1999 में एडिलेड में भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टेस्ट मैच खेला जा रहा था। गेंद सचिन तेंदुलकर के कंधे पर लगी थी। अंपायर डेरेल हार्पर ने सचिन को LBW दे दिया। सोच कर देखिए, अगर आज के दौर का कोई खिलाड़ी होता तो मैदान पर क्या नजारा दिख सकता था? सचिन ने इस अंधी अंपायरिंग का भी विरोध नहीं किया। खामोशी के साथ सिर झुका कर मैदान के बाहर चले गए।

    1998 में भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया फाइनल मैच खेला जा रहा था। अंपायरिंग की जिम्मेदारी माइकल कास्प्रोविच निभा रहे थे। साफ दिखाई पड़ रहा था की गेंद ने ऑफ स्टंप के काफी बाहर टप्पा खाया है। फिर भी अंपायर ने सचिन को LBW आउट दे दिया। करोड़ों इंडियन क्रिकेट फैंस का दिल इस एक डिसीजन से टूट गया था। अगर उस वक्त सचिन अंपायर के खिलाफ कोई भी कदम उठाते, तो उन्हें पूरे भारत का जनसमर्थन मिलता। पर सचिन तो सचिन ठहरे, चुपचाप मैदान के बाहर चले गए।

    साइमन टॉफेल और अलीम दार को क्रिकेट की दुनिया विश्वसनीय अंपायर के तौर पर जानती है। पर इन दोनों ने भी सचिन को गलत आउट दिया है। 28 जनवरी, 2000 को गेंद सचिन तेंदुलकर की जर्सी में लगी थी। पाकिस्तानी विकेटकीपर ने अपील कर दी और साइमन टॉफेल ने सचिन को विकेट के पीछे कैच आउट करार दिया। सचिन को गलत आउट देने के कारण भारत वह मैच हार गया था।

    स्टीव बकनर सचिन तेंदुलकर को गलत आउट देने के लिए कुख्यात थे। साल 2003 में जेसन गिलेस्पी की गेंद विकेट के काफी ऊपर से जा रही थी, बकनर ने सचिन को LBW दे दिया। साल 2005 में कोलकाता के ईडन गार्डन में सचिन को विकेट के पीछे कॉट बिहाइंड गलत आउट देने के बाद बकनर ने कहा था कि मैं दर्शकों के शोर की वजह से आवाज नहीं सुन पाया। उसे मैच में भारत पाकिस्तान के खिलाफ खेल रहा था। 2007 में भारत इंग्लैंड के खिलाफ खेल रहा था।

    इस बार अलीम दार ने सचिन को विकेट के पीछे गलत कॉट बिहाइंड आउट दिया। बाद में अलीम दार ने सार्वजनिक तौर पर इसके लिए माफी मांगी थी। उसी इंग्लैंड सीरीज में जब सचिन 99 पर थे, अंपायर इयान गूल्ड ने सचिन को विकेट के पीछे गलत कॉट बिहाइंड करार दे दिया। बगैर शतक पूरा किया सचिन तेंदुलकर चुपचाप पवेलियन की तरफ चल पड़े। इस खिलाड़ी की सहनशीलता देखिए, अंपायर का निर्णय आने के बाद सचिन ने शतक की भी परवाह नहीं की।

  • जन संपर्क न्यूज़

    मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने विश्व पैरा-एथलेटिक्स चैंपियनशिप के पदक विजेता भारतीय खिलाड़ियों को दी बधाई

    मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने जापान में आयोजित विश्व पैरा-एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारतीय खिलाड़ियों द्वारा अभूतपूर्व प्रदर्शन कर 17 पदक…

    Stay Connected

  • Related Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Add New Playlist