Peptech Time

  • Download App from
    Follow us on
  • विराट कोहली को T-20 वर्ल्ड कप से बाहर करना जोखिम भरा फैसला…!

    विराट कोहली को T-20 वर्ल्ड कप से बाहर करना जोखिम भरा फैसला...!

    स्पोर्ट डेस्क। BCCI की टॉप लीडरशिप ने चयनकर्ताओं को साफ कर दिया था कि चुनावी मौसम में विराट कोहली को T-20 वर्ल्ड कप से बाहर करना जोखिम भरा फैसला होगा। इसलिए विराट कोहली को T-20 वर्ल्ड कप की टीम में शामिल किया जाए। यह खुलासा मशहूर अखबार दैनिक जागरण ने किया है।

    दरअसल इस पूरे विवाद की शुरुआत तब हुई थी, जब वनडे वर्ल्ड कप 2023 की समाप्ति के बाद नवंबर में एक हाई प्रोफाइल मीटिंग आयोजित की गई थी। इस मीटिंग में BCCI के पदाधिकारी, कोच राहुल द्रविड़, मुख्य चयनकर्ता अजीत आगरकर और कप्तान रोहित शर्मा मौजूद थे। रोहित शर्मा विदेशी दौरे पर थे, इसलिए वह ऑनलाइन इस मीटिंग का हिस्सा बने थे। वहीं पर आपस में चर्चा के बाद तय किया गया कि विराट कोहली T-20 फॉर्मेट के लायक नहीं हैं। उनका स्ट्राइक रेट कम रहता है, जिस वजह से विराट को T-20 वर्ल्ड कप में नहीं चुना जाएगा।

    भारतीय कोच राहुल द्रविड़ ने विराट की कम स्ट्राइक रेट का यह मुद्दा उठाया था, जिस पर मीटिंग में मौजूद तमाम लोगों ने सहमति जताई थी। रोहित और विराट कोहली ने T-20 वर्ल्ड कप 2022 के बाद वनडे वर्ल्ड कप 2019 तक कोई भी T20 इंटरनेशनल मैच नहीं खेला था। ऐसे में अफगानिस्तान के खिलाफ जनवरी, 2024 में आयोजित हुई T-20 सीरीज के लिए इन दोनों खिलाड़ियों ने खुद को उपलब्ध करवा दिया। इसके बाद टीम प्रबंधन उहापोह की स्थिति में था।

    उसे समझ नहीं आ रहा था कि आखिर विराट कोहली को ड्रॉप करने के लिए कौन सा बहाना किया जाए। इस बीच BCCI की टॉप लीडरशिप ने कोच राहुल द्रविड़, कप्तान रोहित शर्मा और मुख्य चयनकर्ता अजीत आगरकर को साफ संदेश दे दिया कि हम चुनावी मौसम में किसी भी तरह का विवाद पैदा नहीं करना चाहते हैं।

    विराट कोहली को बाहर करने से भारत की जनता भड़क सकती है। इसलिए T-20 वर्ल्ड कप में विराट कोहली की जगह के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं होगी। इस सब के बीच विराट कोहली ने IPL 2024 के पहले 7 मुकाबले में 361 रन बनाकर ऑरेंज कैप पर कब्जा जमा लिया।

    विराट कोहली ने IPL की शुरुआत से पहले ही टीम प्रबंधन से कहा था कि मुझे स्पष्ट तौर पर बताइए, मैं T-20 वर्ल्ड कप खेल रहा हूं या नहीं? विराट कोहली को स्पष्टता दे दी गई है। लास्ट वीक मुंबई में कप्तान रोहित शर्मा, कोच राहुल द्रविड़ और मुख्य चयनकर्ता अजीत आगरकर के बीच T-20 वर्ल्ड कप को लेकर चर्चा हुई। चूंकि विराट कोहली IPL में भी ओपनर के तौर पर खेलते हैं, इसलिए निर्णय लिया गया की T-20 वर्ल्ड कप में विराट और रोहित मिलकर ओपनिंग करेंगे।

    ऐसी स्थिति में यशस्वी जायसवाल को टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा। चुनाव यशस्वी जायसवाल और शुभमन गिल के बीच होना है। IPL में मौजूदा फॉर्म के आधार पर बैकअप ओपनर के रूप में शुभमन गिल का दावा ज्यादा मजबूत नजर आ रहा है। यशस्वी का बल्ला पूरे IPL 2024 में अबतक खामोश रहा है। हालांकि इसी जायसवाल ने अभी हाल-फिलहाल संपन्न हुई इंग्लैंड के विरुद्ध टेस्ट सीरीज में 700 से ज्यादा रन बनाए थे और 2 दोहरे शतक लगाए थे।

    असम से बिलॉन्ग करने वाले राजस्थान रॉयल्स के युवा ऑलराउंडर रियान पराग इस साल 7 IPL मैच में 318 बन चुके हैं। अगर वह अपनी फॉर्म बरकरार रखते हैं, तो अमेरिका जाने वाली फ्लाइट में उनका भी टिकट बुक हो सकता है। दिल्ली से बिलॉन्ग करने वाले लखनऊ सुपर जायंट्स के एक्सप्रेस स्पीड तेज गेंदबाज मयंक यादव का चोटिल होना उनके खिलाफ गया है।

    चयनकर्ताओं और कप्तान का मानना है कि मयंक यादव को T-20 वर्ल्ड कप में ले जाना टीम के लिए जोखिम भरा निर्णय हो सकता है। हार्दिक पांड्या को लेकर कप्तान रोहित शर्मा ने नाराजगी जताई है। उनका कहना है कि हार्दिक एक ऑलराउंडर के तौर पर T-20 वर्ल्ड कप की टीम में जगह नहीं बना पा रहे हैं।

    हार्दिक ने IPL 2024 के 6 मुकाबले में से सिर्फ 4 में गेंदबाजी की है। इस दौरान उनकी इकोनॉमी 12 की रही है। बल्लेबाजी में भी हार्दिक पांड्या सिर्फ 131 रन बना सके हैं। ऐसे में हार्दिक पांड्या को अल्टीमेटम दे दिया गया है कि आपको हर मैच में गेंदबाजी करनी है।

    अगर टीम सिलेक्शन के पहले हार्दिक पांड्या का परफॉर्मेंस नहीं सुधरता है, तो उनकी जगह शिवम दुबे को T-20 वर्ल्ड कप में मौका मिलेगा। कप्तान रोहित शर्मा, कोच राहुल द्रविड़ और मुख्य चयनकर्ता अजीत आगरकर शिवम दुबे से काफी प्रभावित हुए हैं। हालांकि शिवम दुबे को चेन्नई सुपर किंग्स इंपैक्ट प्लेयर के तौर पर खेला रहा है।

    इसलिए उन्हें गेंदबाजी का अवसर नहीं मिल पा रहा है। यह एक चीज शिवम दुबे की संभावनाओं पर भारी पड़ सकती है। T-20 वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया का चयन 30 अप्रैल को होगा। इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट टेस्ट के दौरान BCCI सचिव जय शाह ने कहा था कि रोहित शर्मा भारतीय टीम के कप्तान और हार्दिक पांड्या उप-कप्तान होंगे। ऐसे में उप-कप्तान को सीधे टीम से बाहर का रास्ता दिखाना उतना आसान नहीं होने जा रहा है।

    (स्रोत: लेखनबाजी, फेसबुक)

  • जन संपर्क न्यूज़

    गैस राहत चिकित्सालयों में प्रतिनियुक्ति पर ली जायेंगी चिकित्सा अधिकारियों की सेवाएँ

    गैस राहत चिकित्सालयों के लिये विशेषज्ञों, कंसलटेंट और चिकित्सा अधिकारियों की सेवाएँ प्रतिनियुक्ति पर ली जायेंगी। संचालक गैस राहत एवं…

    Stay Connected

  • Related Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Add New Playlist