Peptech Time

  • Download App from
    Follow us on
  • संजय गांधी ताप विद्युत परियोजना के जलाशय की सुरक्षा से खिलवाड़

    संजय गांधी ताप विद्युत परियोजना के जलाशय की सुरक्षा से खिलवाड़

    उमरिया। प्रदेश में बिजली उत्पादन में सबसे अहम योगदान देने वाले संजय गांधी ताप विद्युत परियोजना के सेंसटिव माने जाने वाले जलाशय की सुरक्षा के साथ सुरक्षा अधिकारी के द्वारा ही खिलवाड़ किए जाने का मामला सामने आया है,जी मीडिया के पास मौजूद एक्सक्लूसिव वीडियो में सुरक्षा अधिकारी अपने शासकीय वाहन क्रमांक एमपी18 टी 4001 में बैठकर डैम की वाल से होकर जाने वाले मार्ग में कबाड़ से भरे ओवरलोड ट्रक पार कराते हुए नजर आ रहे हैं,इस पूरे मामले में सबसे खास बात यह है की सुरक्षा अधिकारी के अधीनस्थ काम करने वाले सुरक्षा श्रमिको ने इसका विरोध किया तो सुरक्षा अधिकारी राकेश कुमार भार्गव श्रमिको को प्रताडि़त करने नरेंद्र सिंह नामक श्रमिक को निलंबित कर दिया तो कइयों को नोटिस जारी कर स्थानांतरण की धमकी भी दी है,पीडि़त सुरक्षा श्रमिको ने उमरिया कलेक्टर को पत्र सौंपकर सुरक्षा अधिकारी की करतूत के विरुद्ध जांच और कार्यवाही की मांग की है,सुरक्षा अधिकारी के ऊपर प्लांट से निकलने वाले वाहनों से अवैध वसूली का भी आरोप श्रमिको ने लगाया है,श्रमिको ने बताया की पर वाहन 10 रुपए की जबरिया वसूली कराई जाती है जो रोजाना सुरक्षा अधिकारी की जेब में जाति है।
    क्यों सेंसेटिव है डैम की वाल
    संजय गांधी थर्मल पावर परियोजना से बिजली उत्पादन के लिए संयंत्र के समीप से बहने वाली जोहीला नदी में एक विशाल डैम का निर्माण कराया गया है,जिससे संयत्र में 1340 मेगावाट थर्मल बिजली और 20 मेगावाट वाल के नीचे स्थापित संयंत्र से हाईड्रल बिजली का उत्पादन होता है,कलेक्टर उमरिया द्वारा डैम वाल के ऊपर बने आम रास्ते में वाल की सुरक्षा को देखते हुए भारी वाहन का आवागमन प्रतिबंधित किया गया ताकि वाल को कोई खतरा न हो बता दें इसी जलाशय से नहर के जरिए थर्मल पावर स्टेशन में पानी ले जाया जाता है तो बायलर में जाता है और उससे स्टीम(बनाकर)प्रेशर से टरबाइन चलाई जाती है जिससे 1340 मेगावाट की परियोजना सतत चल रही है,भारी वाहनों के आवागमन से वाल को खतरा अर्थात डैम के फूटने का खतरा है बावजूद इसके सुरक्षा अधिकारी लगातार अपनी मौजूदगी में नियम विरुद्ध भारी वाहनों का आवागमन करा रहे हैं।
    सेवानिवृत सैनिक हो रहे परेशान
    संजय गांधी ताप विद्युत परियोजना की सुरक्षा में 100 से अधिक सुरक्षा कर्मी तैनात है जिसमे 80 से ज्यादा देश की सेवा करने वाले सेवानिवृत सेना के जवान कार्यरत है,सेना में सेवा के दौरान उन्हें जो ईमानदारी और अनुशासन का पाठ पढ़ाया जाता है उसे सैनिक जीवन भर अपनी दिनचर्या में लागू करता है और यही वजह है की परियोजना में सेवा के दौरान जब सुरक्षा अधिकारी उनसे भ्रष्टाचार और नियमविरुध कार्य करने का आदेश देता है तो वो करने से मना कर देते हैं और सुरक्षा अधिकारी उन्हें लगातार प्रताडि़त कर रहा है।

  • जन संपर्क न्यूज़

    मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने विश्व पैरा-एथलेटिक्स चैंपियनशिप के पदक विजेता भारतीय खिलाड़ियों को दी बधाई

    मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने जापान में आयोजित विश्व पैरा-एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारतीय खिलाड़ियों द्वारा अभूतपूर्व प्रदर्शन कर 17 पदक…

    Stay Connected

  • Related Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Add New Playlist