Peptech Time

  • Download App from
    Follow us on
  • मौसम ने ली करवट, कई स्थानों पर ओलावृ​ष्टि से तबाह हुई फसलें, जानिए कहां कैसे हालात

    मौसम ने ली करवट, कई स्थानों पर ओलावृ​ष्टि से तबाह हुई फसलें, जानिए कहां कैसे हालात

    छतरपुर। जिस तरह से मौसम में लगातार परिवर्तन हो रहा है उससे सबसे ज्यादा परेशानी किसानों को हो रही है। क्योंकि इस समय रबी की फसल खेतों में खड़ी है, कुछ फसलें पक चुकी हैं और कुछ पकने की स्थिति में हैं। ऐसी स्थिति में आसमानी आफत आने से, इसका खामियाजा किसान को भुगतना पड़ रहा है।

    मंगलवार की सुबह से जिले के गढ़ीमलहरा, महाराजपुर के अलावा ग्राम झमटुली, बमीठा, गढ़ा बागेश्वर धाम, कटारा, ओंटा पुरवा, पिपरिया, बरदयाऊ, डिगनिया, कोंड़न सहित दर्जनों गांवों से ओलावृष्टि की खबरें और तस्वीरें सामने आई हैं। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार के बाद मौसम साफ होने के संकेत हैं।

    मंगलवार को हुई ओलावृष्टि, तेज हवा और बारिश से किसानों की फसलों में भारी नुकसान हुआ है। ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों ने शासन-प्रशासन से सर्वे करवाकर मुआवजा दिलाने की मांग की है। कलेक्टर संदीप जी आर ने भी तत्काल सभी अनुविभाग के अधिकारियों को ओलावृष्टि से प्रभावित हुई फसलों का निरीक्षण करते हुए सर्वे दलों से सर्वे कराने के निर्देश दिए हैं।

    खजुराहो स्थित मौसम विभाग में पदस्थ आरएस परिहार ने बताया कि पूर्वी और उत्तरी हवाओं के कारण मौसम में परिवर्तन हुआ है। पश्चिमी विक्षोभ के कारण फिर से पूर्वी मप्र और बुन्देलखण्ड के क्षेत्र में मौसम में बदलाव हुआ है। आमतौर पर फरवरी में पाकिस्तान और ईरान के क्षेत्र में इस तरह का मौसम  रहता था।

    हवा के रूख की वजह से कई वर्षों बाद फरवरी में बादल और बारिश का दौर चल रहा है। आपको बता दें कि एक सप्ताह पहले हरपालपुर क्षेत्र में ओलावृष्टि हुई थी तथा करीब एक पखवाड़ा पहले राजनगर और चंदला क्षेत्र में बारिश के साथ ओले गिरे थे। आसमान में जैसे ही बादल दिखाई देते हैं वैसे ही किसान के माथे में चिंता की लकीरें दिखने लगती हैं। क्योंकि दिन-रात मेहनत कर किसान फसल तैयार करते हैं मगर मौसम का साथ न मिलने से उन्हें विपत्तियों से जूझना पड़ता है।

  • जन संपर्क न्यूज़

    जल स्रोतों के संरक्षण एवं पुनर्जीवन के लिये सभी नगरीय निकायों में 5 से 15 जून तक चलेगा विशेष अभियान

    मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की पहल पर प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में जल स्रोतों तथा नदी, तालाबों, कुओं, बावड़ियों…

    मतगणना की व्यवस्थाओं का समुचित प्रबंधन कर लें- मुख्य निर्वाचन आयुक्त श्री कुमार

    मुख्य निर्वाचन आयुक्त, भारत निर्वाचन आयोग श्री राजीव कुमार ने सोमवार 27 मई को लोकसभा निर्वाचन-2024 की मतगणना की तैयारियों…

    Stay Connected

  • Related Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Add New Playlist