Peptech Time

  • Download App from
    Follow us on
  • क्या सत्ता विरोधी लहर को लाडली बहनों ने किया बेअसर

    क्या सत्ता विरोधी लहर को लाडली बहनों ने किया बेअसर

    सतना(अंबिका केशरी)। मप्र विधानसभा चुनाव का भविष्य ईव्हीएम में कैद हो गया। जिसका खुलासा 3 दिसंबर को होगा। मुद्दा या यूं कहें कि लहर विहीन इस चुनाव में भाजपा-कांग्रेस दोनों ने मतदाताओं को व्यक्तिगत लाभ पहुंचाने वायदों की होड लगा दी।
    मुफ्त का भोजन, मुफ्त की शिक्षा, मुफ्त का इलाज यानी कि सब कुछ मुफ्त का सियासी खेल का निरंतर दौर नेताओं के भाषणों में चला। मतदान के बाद जो आंकडे दिखे रहे हैं, विशेषकर सतना, मैहर की सातों विधानसभा सीटों में स्पष्ट है कि महिलाओं ने इस चुनाव में बढ-चढकर हिस्सा लिया।
    सर्वाधिक अमरपाटन में पुरूषों की तुलना में साढे सात फीसदी से ज्यादा महिलाओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। बता दें कि विधानसभा चुनाव 2023 के ठीक पहले से ही मुफ्त की रेवडी बांटकर वोट हथियाने कांग्रेस-भाजपा के बीच शह और मात का सियासी खेल शुरू हो गया था।
    चुनाव के पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी गरीब पात्र महिलाओं को एक हजार रूपए प्रतिमाह देने की घोषणा की और आनन-फानन में चुनावी बिगुल बजने के पहले इस घोषणा का क्रियान्वयन भी हो गया। पहली किस्त एक हजार की लाखों महिलाओं के खाते में आ गई। कांग्रेस के मुखिया कमलनाथ ने समझ लिया कि इस मुफतखोरी से आधी आबादी भाजपा के कब्जे में आ जाएगी।
    लिहाजा उन्होंने नारी सम्मान निधि 15 सौ रूपए प्रति महीने करने की घोषणा कर दी। जवाब में शिवराज सिंह ने एक हजार को बढाकर रक्षाबंधन का तोहफा बताते हुए 250 और बढा दिया। बाद में इन्होंने कहा कि इसके 3 हजार तक ले जाएंगे।

  • Shri Sai Lotus City, Satna (M.P.)

    Peptech Town, Chhatarpur (M.P.)​

  • Related Posts

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Add New Playlist